T20 WC के बाद कप्तानी से बर्खास्त किए जाएंगे अफरीदी : खान

PUBLISHED : Mar 22 , 7:50 AMBookmark and Share




इस्लामाबाद। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के अध्यक्ष शहरयार खान ने सोमवार को घोषणा की कि भारत में चल रहे टी-20 विश्वकप के बाद टीम के कप्तान शाहिद अफरीदी को बर्खास्त कर दिया जाएगा। उन्होंने इस बात के भी संकेत दिए की खिलाड़ी के रूप में भी अफरीदी के दिन पूरे हो चुके हैं। कोलकाता से लाहौर लौटने के बाद संवाददाताओं से बातचीत करते हुए खान ने कहा कि बोर्ड और अफरीदी में इस बात की सहमती हो गई है कि वह विश्वकप के बाद संन्यास ले लेंगे।

खान ने कहा कि समझौते के तहत वह विश्वकप तक कप्तान है हैं और इसके बाद वह खुद क्रिकेट से संन्यास ले लेंगे। हालांकि, टूर्नामेंट के बाद अगर वह अपना इरादा बदलते हैं तो फिर हम इस बात पर विचार करेंगे कि उन्हें टीम में शामिल

किया जाए या नहीं। वहीं, खान ने इस बात को साफ कर दिया कि पिछले साल अफरीदी को राष्ट्रीय टी20 टीम का कप्तान नियुक्त करने में बोर्ड ने कोई गलती नहीं की।

पीसीबी प्रमुख ने कहा कि अफरीदी पाकिस्तान के बेहतरीन खिलाडिय़ों में से एक हैं और उन्होंने टीम को कई मैच जितवाने में अहम भूमिका निभाई। कई मैच तो उन्होंने अपने दम पर भी जितवाए। उन्हें नियुक्त करने में कोई गलती नहीं की गई।

यह स्वभाविक है कि जब भी टीम कोई बड़ा मैच हारती है तो आलोचना अफरीदी की ही होती है। हालांकि, वर्तमान समय में उन्हें सबके सहयोग की जरूरत है।

कोच को भी बदला जाएगा

शहरयार खान ने इस बात की भी पुष्टि की कि विश्वकप के बाद बोर्ड टीम के कोच को भी बदलने पर विचार कर रहा है। इसपर विचार किया जा रहा है। कांट्रेक्ट के हिसाब से वकार यूनुस का कार्यकाल जून तक है। इस बात को लेकर मैंने वसीम अकरम और अन्य वरिष्ठ खिलाडिय़ों से बात की और उन लोगों का मानना है कि हम चाहें विदेशी या फिर स्थानीय कोच नियुक्त करें, लेकिन वह टीम से बेहतर प्रदर्शन करवाने में सक्ष्म हो। निजी तौर पर मेरा मानना है कि विदेशी कोच रखने में कोई बुराई नहीं है। पूर्व में भी हमने विदेशी कोच नियुक्त किए हैं। बॉब वूल्मर हमारे बेहतरीन कोच थे।

टीम में कोई गुठबाजी नहीं

खान ने इस बात को भी सिरे से खारिज कर दिया कि टीम में गुटबाजी है, वह दो हिस्सों में बट गई है और खिलाड़ी भी हतोत्साहित हैं। उन्होंने कहा कि मैं आपको बताना चाहूंगा कि विश्वकप में भारत के हाथों एक बार फिर हार मिलने से हम

निराश हैं, लेकिन इस बात को लेकर टीम में कोई गुटबाजी नहीं है। अगले मैचों में बेहतरीन प्रदर्शन करने के लिए खिलाड़ी एकजुट हैं। सेमिफाइनल में पाकिस्तान की उम्मीदें बरकार हैं क्योंकि टीम को ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड से खेलना है और एक मैच में भी हमें जीत मिलती है तो अगले दौर में जाने की हमारी उम्मीदों बरकरार रहेंगी।

इमरान से मुलाकात गलत नहीं

पीसीबी प्रमुख ने कहा कि टीम ने भारत के साथ होने वाले मैच से पहले पूर्व कप्तान इमरान खान को बातचीत के लिए बुलाया था। इसमें कुछ भी गलत नहीं था। इमरान बहुत बड़े खिलाड़ी हैं और वह यह कहने आए थे कि मैच दबाव में खेलने की बजाए ठंडे दिमाग से खेलें।

वीडियो

More News