खजुराहो विकास योजना 2031प्रारूप जारी

PUBLISHED : Nov 12 , 6:11 AMBookmark and Share


खजुराहो विकास योजना 2031प्रारूप जारी

अब अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट बनेगा..

मदिरा की नई दुकान नही खुलेगी....

(डॉ. नवीन जोशी)

भोपाल।राज्य सरकार ने खजुराहो विकास योजना 2031 का प्रारुप जारी कर दिया है। इसमें खजुराहो में संचालित डोमेस्टिक फ्लाईट के एयरपोर्ट को अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट में बदले जाने का प्रस्ताव है। इससे विदेशी पर्यटकों के सीधे वहां आने का मार्ग खुल जायेगा। आगामी 1 दिसम्बर के बाद यह विकास योजना प्रभावशील की जायेगी।
जारी विकास योजना में कहा गया है कि खजुराहो विश्व स्तरीय पर्यटन केंद्र के रुप में उभरा है तथा अब यहां राजनगर से बमीठा एवं खजुराहो जहां विकास का दबाव अत्यधिक है, प्रस्ताव सृजित किये गये हैं।
निर्माणाधीन है हवाई अड्डा :
खजुराहो को हवाई मार्ग से जोडऩे के बारे में नई विकास योजना में कहा गया है कि खजुराहो में एक आंतरिक यानि डोमेस्टिक हाई अड्डा है जो 241.07 हैक्टेयर में फैला हुआ है और वर्ष 1962 से संचालित है। यह खजुराहो से 3 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। वायुयान से सफर करने वाले यात्रियों में मुख्य तौर पर विदेशी होते हैं एवं इनका आगमन पर्यटक सीजन पर निर्भर है। हवाई अड्डे को छोटे हवाई अड्डे के तौर पर वर्गीकृत किया जा सकता है। खजुराहो से सभी मुख्य एयरलाईनों के विमान उड़ान भरते हैं। खजुराहो, हवाई मार्ग से वाराणसी, दिल्ली, मुम्बई, भोपाल, इंदौर, आगरा एवं इलाहाबाद से जुड़ा हुआ है। यहां एक अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा निर्माणाधीन है, अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे का प्रावधान, अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों की सीधी उपलब्ध्ता, स्थानीय अर्थव्यवस्था एवं पर्यटन को बढ़ा सकता है। 
नई मदिरा दुकान को अनुमति नहीं मिलेगी :
विकास योजना में कई गतिविधियों को स्वीकार्य नहीं किया गया है। इनमें शामिल हैं : मदिरा की दुकान, बैटरी चार्जिंग, कबाड़ी की दुकान, वाहन सुधार वर्कशाप, सीमेंट-रेत-गिट्टी की दुकान, जलाऊ लकड़ी व कोयले की दुकान आदि।
खुलेगा गोल्फ कोर्स, रिसोर्ट एवं बनेगा हेलीपेड :
विकास योजना में बेनीसागर जलाशय के समीप एक गोल्फ कोर्स विकसित करने का प्रस्ताव है। यह पर्यटकों को आकर्षित करेगा।  खजुराहो में नये रिसोर्ट भी खुल सकेंगे जोकि अधिकतम 12 मीटर ऊंचाई के हो सकेंगे। यहां भारतीय विमान पत्तन प्राधिकरण एवं मप्र भूमि विकास नियम 2012 के तहत हेलीपेड भी विकसित किये जा सकेंगे।
इनके भी किये प्रावधान :
सिर्फ राजनगर में भूमि विकास नियमों के अनुसार बहु मंजिला भवन बन सकेंगे। ग्वालियर-शिवपुरी-ओरछा-खजुराहो पर्यटन परिपथ बनाया जायेगा। पेयजल हेतु कुटनी बांध से खजुराहो एवं राजनगर शहर को जलापूर्ति की जा सकेगी। प्रेमसागर झील, पर्यटक ग्राम एवं विद्याधर कॉलोनी के निकट की झीलों को आमोद-प्रमोद क्षेत्रों के रुप में प्रस्तावित किया गया है। बमीठा-राजनगर मार्ग के साथ एयरपोर्ट के निकट वाणिज्यिक क्षेत्रों को प्रस्तावित किया गया है। राजनगर के एपीएमसी के निकट, बमीठा में एनएच 75 पर छतरपुर छोर पर, लालगवा मार्ग एवं मंदिरों के पश्चिमी समूह के निकट प्रस्तावित रिंग रोड के जंक्शन के निकट तथा 45 मीटर चौड़ा बमीठा बायपास मार्ग एवं एनएच 75 के जंक्शन के निकट बस एवं ट्रक टर्मिनल केंद्र प्रस्तावित किये गये हैं। 11 वर्तमान मार्गों के चौड़ीकरण तथा नौ नये मार्गों को बनाने का भी प्रस्ताव है।
विभागीय अधिकारी ने बताया कि खजुराहो विकास योजना 2031 का ड्राफ्ट जारी हो गया है। पहले इस पर निचले स्तर पर सुझाव एवं आपत्तियां आयेंगी तथा इसके बाद खजुराहो विकास समिति इन पर सुनवाई करेगी। इसके बाद यह संचालक नगर तथा ग्राम निवेश के पास अंतिम रिपोर्ट जायेगी तथा संचालक परीक्षण के बाद इसे शासन को भेजेंगे जहां इसे अंतिम स्वीकृति दी जायेगी।
 
 
किरण गुप्ता बनी दो आयोगों की सचिव

भोपाल।राज्य शासन ने उप संचालक पिछड़ा वर्ग भोपाल श्रीमती किरण गुप्ता को पिछड़ा वर्ग आयोग एवं अल्पसंख्यक आयोग के सचिव पद का प्रभार अतिरिक्त रुप से सौंपा है। वे राज्य प्रशासनिक सेवा की अधिकारी हैं। विनय निगम से अल्पसंख्यक आयोग के सचिव पद का अतिरिक्त प्रभार वापस ले लिया गया है। इस संबंध में सामान्य प्रशासन विभाग ने आदेश जारी कर दिये हैं।
डॉ. नवीन जोशी

वीडियो

More News