कृषि आय दोगुना करने के रोडमेप पर किसानों से चर्चा की जायेगी

PUBLISHED : Aug 31 , 9:08 AMBookmark and Share



प्रदेश में 25 सितम्बर से 2 अक्टूबर 2017 तक स्वच्छता अभियान चलाया जाएगा: मुख्यमंत्री श्री चौहान
मुख्यमंत्री ने ग्राम कागपुर में किसानों को दिये फसल बीमा राशि के प्रमाण-पत्र


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने विदिशा जिले के कागपुर में फसल बीमा राशि के प्रमाण-पत्र वितरण समारोह में कहा कि किसानों की कृषि से होने वाली आय दोगुना करने के रोडमेप की जानकारी सितंबर में विकासखण्ड मुख्यालयों पर किसान सम्मेलन आयोजित कर दी जायेगी। सम्मेलन में किसानों के अलावा कृषि वैज्ञानिक भी मौजूद रहेंगे, जो क्षेत्र की मिट्टी और जलवायु का परीक्षण कर किसानों को फायदेमंद फसल के बारे में राय देंगे। इन सम्मेलनों में किसानों से प्राप्त सुझावों, क्षेत्र विशेष की भौगोलिक स्थितियों और परिवेश पर कृषि आय को दोगुना करने के सुझाव भी रोडमेप में शामिल किये जायेंगे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि किसानों को अब अपनी उपज औने-पौने दामों पर नहीं बेचना पड़ेगी। किसानों के फायदे के लिये प्रदेश में भावांतर भुगतान योजना लागू की जा रही है। इस योजना में किसान द्वारा प्रदेश में अधिसूचित कृषि उपज मंडी प्रागंण में चिन्हित फसल उपज बेचने पर राज्य सरकार द्वारा घोषित मॉडल विक्रय दर और केन्द्र द्वारा घोषित न्यूनतम समर्थन मूल्य के अंतर की राशि किसानों को सरकार भुगतान करेगी। बाजार भाव में एक निश्चित मूल्य से घट-बढ़ हुई तो सरकार इसकी भरपाई करेगी ताकि किसान को उनकी उपज का वाजिब मूल्य मिल सके। उन्होंने बताया कि मूल्यों का निर्धारण तीन राज्यों के समर्थन मूल्यों का औसत निकालकर किया जाएगा। न्यूनतम समर्थन मूल्य तय करने में फसल के उत्पादन में आने वाली लागत शामिल होगी। इसमें बीज, बोनी, कीटनाशक और फिर मार्केटिंग के खर्च को शामिल किया जाएगा।

श्री चौहान ने कहा कि खेती को लाभप्रद व्यवसाय बनाना सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। सभी नगरीय निकायों में किसान बाजार बनाने की पहल की जा रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस वर्ष प्रदेश के कुछ अंचलों में अपेक्षाकृत कम वर्षा हुई है लेकिन किसान आश्वस्त रहें, किसी भी प्रकार की प्राकृतिक आपदा से निपटने के लिये राज्य सरकार ने कार्य-योजना बना ली है ।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अगले तीन माह में सभी अविवादित नामांतरण और सीमांकन के प्रकरणों का निराकरण कर लिया जाएगा। इसके लिये राजस्व विभाग द्वारा पूरे प्रदेश में अभियान स्तर पर कार्रवाई की जा रही है। इसके बाद तीन माह से अधिक पुराने लंबित प्रकरणों की जानकारी देने वाले व्यक्ति को एक लाख रूपये का पुरस्कार दिया जाएगा। साथ ही संबंधित राजस्व अधिकारी के विरूद्ध कार्यवाही भी की जायेगी।

मुख्यमंत्री चौहान ने सम्मेलन में घोषणा की कि आगामी 25 सितम्बर से 2 अक्टूबर 2017 तक प्रदेश में स्वच्छता अभियान चलाया जाएगा। इस अभियान में सभी वगों से सहभागिता की अपील करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार की कोई भी योजना अथवा अभियान तब तक सफल नहीं हो सकता, जब तक उसमें आम जनता की भागीदारी ना हो।

मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में 21 किसानों को फसल बीमा राशि के प्रमाण पत्र वितरित किए। जिन किसानों को अभी प्रमाण पत्र नही मिल सके हैं, उन्हे उनके घर तक प्रमाण-पत्र पहुंचाने की व्यवस्था की गई है। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर दो करोड़ रूपए की लागत के सांस्कृतिक भवन, 6.06 करोड़ रूपए लागत के 7.48 किलोमीटर लम्बे कागपुर-गढ़ला-ककरूआ-बनारी मार्ग, कागपुर में 22.35 लाख रूपए लागत के सामुदायिक भवन, 30.38 लाख रूपए लागत की कागपुर नल-जल आवर्धन योजना तथा 82.25 लाख रूपए लागत के ग्राम कागपुर के निस्तारी तालाब के जीर्णोद्धार एवं सुदृढ़ीकरण कार्यों का भूमिपूजन किया। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में खामखेड़ा को उप-तहसील बनाने, कागपुर में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र तथा स्कूल के लिए भवन बनाने की घोषणा की।

किसान सम्मेलन में उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण (स्वतंत्र प्रभार) राज्य मंत्री श्री सूर्यप्रकाश मीणा, सांसद श्री लक्ष्मीनारायण यादव, विधायक द्वय श्री कल्याण सिंह ठाकुर एवं श्री वीर सिंह पवार तथा श्री सौदान सिंह सहित जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।
बबीता मिश्रा

वीडियो

More News