हैदराबादः गिरफ्तार IS संदिग्ध मंदिर में गोमांस रख कराना चाहते थे दंगा

PUBLISHED : Jun 30 , 8:57 AMBookmark and Share



   

एनआईए ने हैदराबाद के पुराने शहर में बुधवार को कई जगहों पर छापेमारी के बाद आईएस से जुड़े होने के संदिग्ध एक आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ करने का दावा किया, जिसमें पांच युवकों को गिरफ्तार किया गया है, वहीं एक आईटी पेशेवर समेत छह अन्य को हिरासत में लिया गया है।

ये संदिग्ध शहर के कई इलाकों को बम धमाकों से दहलाना चाहते थे, इनके निशाने पर वीवीआईपी, मॉल्स, शॉपिंग सेंटर्स और चारमीनार के इलाके थे । ऐसी भी सूचना है कि वे लोग भाग्यलक्ष्मी मंदिर में गोमांस रखकर दंगा करना चाहते थे। बताया जाता है कि गिरफ्तार आरोपी नियमित तौर पर आईएस के हैंडलर शफी अरमर के संपर्क में थे। जांच एजेंसी लगातार इन युवकों पर नजर रखे हुए थी।

एनआईए के एक सूत्र के अनुसार, दुबई से इनके लिए फंड भेजा जा चुका था।

एजेंसी ने कहा कि तलाशी के बाद हिरासत में लिये गये लोगों में स्नातक तक की पढ़ाई कर चुके कुछ युवा भी हैं।

एनआईए ने एक बयान में कहा, हमने अब तक पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। बाकी छह संदिग्धों से पूछताछ और उनकी भूमिका की पड़ताल जारी है।

हथियार और 15 लाख नकद बरामद
एनआईए और हैदराबाद पुलिस के अधिकारियों ने बताया कि एजेंसी के अधिकारियों को उनके पास से 15 लाख रुपये नगदी के साथ हथियार, कारतूस, यूरिया, तेजाब, कुछ रसायन, इलेक्ट्रॉनिक उपकरण और अन्य आपत्तिजनक सामग्री मिली है। उन्होंने कहा कि ये युवक आईएस के अपने आकाओं के कहने पर काम कर रहे थे।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, एनआईए ने कुछ संदिग्ध आतंकी गतिविधियों को लेकर छापेमारी की, जिन्हें शहर में अंजाम देने की साजिश थी।

अधिकारी के मुताबिक हैदराबाद के रहने वाले कुछ युवकों और उनके साथियों द्वारा आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए हथियार तथा विस्फोटक सामग्री एकत्रित करके भारत के खिलाफ आपराधिक साजिश रचे जाने की विश्वसनीय जानकारी मिलने के आधार पर आज तड़के से कम से कम 10 जगहों पर तलाशी ली गयी, जिसमें हैदराबाद पुलिस की मदद ली गयी।

वीडियो

More News