कश्मीर में ‘पोस्टर ब्याय ऑफ मिलिटेंसी’ का अंत हुआ

PUBLISHED : Jul 09 , 9:59 AMBookmark and Share


   

 जम्मू। कश्मीर में आतंक का पर्याय बन चुके हिज्बुल मुजाहिदीन के पोस्टर ब्याय और शीर्ष कमांडर बुरहान वानी को सुरक्षाबलों ने आज मार गिराया। उसके साथ उसके दो साथियों को भी भीषण मुठभेड़ में मार गिरा कर सुरक्षाबलों ने आतंकवाद के एक अध्याय को खत्म करने का दावा किया है।
 सेनाधिकारियों के मुताबिक, बुरहान वानी और उसके दोनों साथियों को कोकरनाग गांव में कई घंटों तक चले मुकाबले में मार गिराया गया। हालांकि कश्मीर पुलिस के एसओजी विंग का कहना था कि उसने स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर बुरहान वानी और उसके साथियों को मार गिराया है पर सेना का दावा है कि उसने इस मुकाबले का अंत किया था।
जानकारी के लिए पिछले कुछ अरसे से सोशल मीडिया पर छाए हुए हिज्बुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी को हिज्ब का पोस्टर ब्याय भी कहा जा रहा था क्योंकि सोशल मीडिया पर छाए उसके वीडियो तथा फोटोग्राफ्स के कारण कश्मीर के कई स्थानीय युवक आतंकवाद की राह पर चल पड़े थे जो सुरक्षाबलों के लिए चिंता का कारण बन गया था।
 
अधिकारियों ने बताया कि मारे गए तीनों आतंकियों में से एक की पहचान हिज्बुल मुजाहिदीन के पोस्टर ब्याय बुरहान वानी के रूप में हुई है तथा दूसरे की सरताज के रूप में। उनके मुताबिक, सरताज पहले भी हथियार डाल मुख्यधारा में लौटा था लेकिन वह फिर से आतंकवादियों के साथ हो लिया था। फिलहाल तीसरे मारे गए आतंकी की पहचान नहीं हो पाई है।
 
मिलने वाली खबरों के अनुसार, जिस घर में तीनों आतंकी शरण लिए हुए थे उसे सुरक्षाबलों ने विस्फोटकों से उड़ा दिया था जिस कारण तीनों आतंकी मारे गए थे। इतना जरूर था कि सुरक्षाबलों को आतंकियों के साथ मुठभेड़ के दौरान आतंकियों के समर्थकों का भी सामना करना पड़ा था, जिन्होंने सुरक्षाबलों पर जबरदस्त पथराव कर उन्हें रोकने की कोशिश की थी।
 
फिलहाल इसके प्रति कोई जानकारी नहीं मिल पाई है कि हिज्बुल मुजाहिदीन के तीनों आतंकियों को मार गिराने में कामयाबी पाने के लिए सुरक्षाबलों को कितना नुकसान उठाना पड़ा था। अंतिम समाचार मिलने तक सुरक्षाबल आसपास के इलाके में सर्च अभियान छेड़े हुए थे क्योंकि ऐसी खबरें थीं कि वानी के अन्य साथी भी आसपास के इलाके में छुपे हुए हैं।

वीडियो

More News