अब असफल सरकारी ई-भुगतान के बैंकर्स चैक नहीं बनेंगे

PUBLISHED : May 29 , 9:30 AMBookmark and Share


अब असफल सरकारी ई-भुगतान के बैंकर्स चैक नहीं बनेंगे
डॉ नवीन जोशी
भोपाल।

बनाने पर रोक लगा दी है। इस संबंध में बुधवार को वित्त विभाग ने सभी विभागों, समस्त संभागायुक्तों तथा जिला कलेक्टरों को हिदायत जारी की।
हिदायत में कहा गया है कि राज्य शासन ने वर्ष 2010-11 से शासकीय देयकों के आहरण हेतु ई-भुगतान प्रारंभ किया गया है। एक हजार रुपये से अधिक राशि के लिये ई-भुगतान अनिवार्य किया गया है। भारतीय स्टेट बैंक के साथ हुये अनुबंध के अनुसार, गलत बैंक विवरण दर्ज होने के कारण ई-भुगतान असफल होने पर संबंधित बैंक द्वारा हितग्राही/डीडीओ के नाम से बैंकर्स चैक जारी किये जाते हैं। अब इस प्रक्रिया में संशोधन किया गया है। नवीन प्रक्रिया के अनुसार, अब ई-भुगतान असफल होने पर बैंक द्वारा बैंकर्स चैक जारी नहीं किये जायेंगे। इसके स्थान पर किसी कार्य दिवस पर प्राप्त असफल भुगतानों की राशियों को उसी दिन लोक लेखा निक्षेप जमा में ई-संव्यवहार में चालान के माध्यम से जमा किया जायेगा।
वित्त विभाग ने हिदायत में आगे कहा है कि चालान एवं असफल ई-भुगतान की मेपिंग रहेगी। ऐसे सभी जमा चालानों का विवरण इलेक्ट्रानिक माध्यम से बैंक कोषालय को उपलब्ध करायेगा, जिसे कोषालय अधिकारी द्वारा कोषालयीन लॉगिन पर साफ्टवेयर में अपलोड किया जायेगा। डीडीओ ऐसे सभी असफल संव्यवहारों का सत्यापन तथा असफल संव्यवहारों के बैंक खाते के विवरण को अद्यतन करेगा तथा उसी रीति/प्रक्रिया का अनुसरण करते हुये पुनर्भुगतान हेतु देयक प्रस्तुत करेगा जैसा कि निक्षेपों के विरुध्द भुगतान के लिये किया जाता है। किसी भी स्थिति में एक वेण्डर से संबंधित आफल भुगतान की राशि का भुगतान अन्य वेण्डर के खाते में या अन्य किसी शासकीय खाते में नहीं किया जा सकेगा। इस प्रक्रिया को क्रियान्वित करने हेतु साफ्टवेयर में आवश्यक संशोधन एवं अनुवर्ती कार्यवाही के लिये आयुक्त कोष एवं लेखा को अधिकृत किया गया है।


शहपुरा में बना रजिस्ट्रीकरण उप जिला कार्यालय
भोपाल।
राज्य सरकार ने डिण्डौरी जिले के शहपुरा तहसील में नवीन रजिस्ट्रीकरण उप जिला कार्यालय खोल दिया है तथा इसके लिये वाणिज्यिक कर विभाग ने रजिस्ट्रीकरण अधिनियम 1908 के तहत अधिसूचना जारी कर दी है।
अधिसूचना के मुताबिक, नवीन उप जिला रजिस्ट्रीकरण कार्यालय शहपुरा में डिण्डौरी जिला उप जिला रजिस्ट्रीकरण कार्यालय के अंतर्गत आने वाले कुल 317 ग्राम सम्मिलित होंगे जिसमें 116 पटवारी हल्के शामिल हैं। नवीन उप जिला कार्यालय में चार राजस्व निरीक्षक वृत्त रयपुरा, शहपुरा तथा मेंहदवानी शामिल किये गये हैं।
अब तहसील शहपुरा के लोगों को सम्पत्ति के रजिस्ट्रीकरण हेतु डिण्डौरी जिला मुख्यालय में नहीं जाना पड़ेगा तथा वे शहपुरा तहसील मुख्यालय में खोले गये इस नवीन कार्यालय में रजिस्ट्रीकरण करा सकेंगे।
डॉ नवीन जोशी

वीडियो

More News