भांजियों की शादी है बारात का स्वागत मैं स्वयं करूँगा : मुख्यमंत्री श्री चौहान

PUBLISHED : Apr 21 , 8:05 AMBookmark and Share



पिपलानी में 114 गोंड आदिवासी जोड़ों का मुख्यमंत्री कन्यादान योजना में विवाह

सीहोर जिले के नसरुल्लागंज के ग्राम पिपलानी में 114 गोंड आदिवासी जोड़ों का विवाह मुख्यमंत्री कन्यादान योजना में हुआ। इनमें एक जोड़ा दिव्यांग तथा दो दिव्यांग दूल्हे शामिल हैं। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने नव-युगल को सुखी वैवाहिक जीवन की शुभकामनाएँ देते हुए आशीर्वाद दिया। श्री चौहान ने आयोजन समिति को विनम्रता से स्वयं के स्वागत के लिये यह कहते हुए इंकार कर दिया कि उनकी भांजियों की शादी है, स्वागत तो वे करेंगे बारातियों का।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नसरुल्लागंज जनपद पंचायत अध्यक्ष श्रीमती दुलारीबाई धुर्वे के पुत्र की शादी भी इस योजना में होने को अनुकरणीय बताया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 2 लाख 16 हजार वन भूमि के पट्टे वितरित किये गये हैं। आवास के पट्टे दिये जाने का काम भी किया जा रहा है। वर्ष 2022 तक प्रदेश में कोई भी आवासहीन नहीं रहेगा। उन्होंने कहा कि संपूर्ण गोंडवाना का विकास किया जा रहा है।

खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री कुँवर विजय शाह ने नवयुगल को आशीर्वाद देते हुए कहा कि प्रदेश में गोंड समाज के इतिहास को प्रकट करने तथा संरक्षण-संवर्धन में मुख्यमंत्री श्री चौहान के विशेष प्रयास रहे हैं। मंत्री श्री शाह ने सभी नव-दम्पतियों को दीवार घड़ी उपहार में दी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ग्राम बावडिय़ाखेड़ा में यज्ञ में शामिल हुए। ग्राम रफीकगंज (लोदड़ी) में कृषि उपज मण्डी नसरुल्लागंज की अध्यक्ष श्रीमती लीलाबाई-रामजी यादव के पुत्र के विवाह में नवयुगल को आशीर्वाद दिया। उन्होंने ग्रामवासियों को बताया कि सनरोहा और मोगरा में डेम निर्माण के लिये सर्वे का काम चल रहा है।

इस अवसर पर सीहोर जिला प्रभारी मंत्री श्री रामपालसिंह, मार्कफेड अध्यक्ष श्री रमाकांत भार्गव, निगम अध्यक्ष श्री राजेन्द्र सिंह राजपूत एवं श्री गुरुप्रसाद शर्मा सहित बड़ी संख्या में वर-वधु के परिजन और ग्रामीण उपस्थित थे।

वीडियो

More News