सीएम के गृह क्षेत्र बुधनी सहित 117 निकायों ने नहीं दी जलकर की राशि

PUBLISHED : Jun 18 , 10:04 AMBookmark and Share



डॉ नवीन जोशी
भोपाल।
सीएम शिवराज सिंह चौहान के गृह क्षेत्र बुधनी सहित प्रदेश के 117 नगरीय निकायों ने सालों से जल संसाधन विभाग को सिंचाई जलाशयों से प्राप्त करोड़ों रुपयों के जल के कर की राशि का भुगतान नहीं किया है। इस संबंध में उच्च स्तर पर यह मामला उठा तो नगरीय प्रशासन संचालनालय ने इन सभी 117 निकायों को जल कर की राशि के भुगतान के निर्देश दिये हैं तथा जल संसाधन विभाग ने भी अपने कछार/परियोजनाओं के सभी मुख्य अभियंताओं को बकाया राशि की वसूली की कार्यवाही के लिये कहा है।
जिन नगरीय निकायों पर सिंचाई जलाशय से जल लेने पर बकाया राशि है उनमें नौ नगर निगम यथा रतलाम, खण्डवा, देवास, उज्जैन, भोपाल, सागर, ग्वालियर, रीवा एवं सतना शामिल हैं जबकि 47 नगर पालिकाओं में सम्मिलित हैं : खरगौन, मनावर, कुक्षी, धार, अलीराजपुर, शाजापुर, सेंधवा, मंदसौर, सवानद, कसरावद, शुजालपुर, बड़वाह, नागदा, झाबुआ, धार, विदिशा, अशोकनगर, सारंगपुर, सिरोंज, सीहोर, आष्टा, खिलचीपुर, औबेदुल्लागंज, राघौगढ़, छतरपुर, देवरी, हटा, दमोह, टीकमगढ़, पन्ना, दतिया, छिन्दवाड़ा, अमरवाड़ा, सिवनी, लखनादौन, नैनपुर, बालाघाट, वारासिवनी, पाण्ढुर्ना, करैरा, शिवपुरी, पिछोर, गोहद, सबलगढ़, सीधी, उमरिया एवं बैतूल। 31 नगर परिषदों में शामिल हैं : रामपुर, जावद, पेटलावद, राणापुर, राजगढ़ जिला धार, सरदारपुर, थांदला, तराना, बैरछा, मक्सी, सैलाना, सोनकच्छ, शामगढ़, भानपुर, गरोठ, राजपुर, सोयतकलां, मानपुर, बदनावर, मांडव, मनासा, महूगांव, बुधनी, रेहटी, लटेरी, ब्यावरा, मूंगावली, बीना-चाचौड़ा, नागौद, मऊगंज एवं भैंसदेही।
सिंहस्थ लिंक प्रोजेक्ट से जल आवंटित :
इधर राज्य सरकार ने नर्मदा-क्षिप्रा सिंहस्थ लिंक परियोजना से पहली बार भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान इंदौर को 4.5 एमएलडी जल आवंटित किया है। चूंकि उज्जैन में अब सिंहस्थ समाप्त हो चुका है इसलिये इस परियोजना से पहली बार जल आवंटित किया गया है।
इसी प्रकार, राज्य सरकार ने अनूपपुर जिले की पुष्पराजगढ़ विकासखण्ड के 51 ग्रामों की किरगा समूह जलप्रदाय योजना हेतु जोहिल नदी से 1.65 मिलियन घनमीटर वार्षिक जल का आवंटन देने के मप्र जल निगम लिमिटेड जबलपुर के प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान कर दी है।

पांच सदस्यों का फैसला दो साल बाद
भोपाल।
मप्र से राज्यसभा में सदस्य पांच व्यक्तियों के भविष्य का फैसला दो साल बाद अप्रैल 2018 में होगा। इनमें भाजपा के मेघराज जैन, केंद्रीय मंत्रीगण थावरचन्द गेहलोत, नजमा हेपतुल्ला, प्रकाश जावड़ेकर तथा कांग्रेस के सत्यव्रत चतुर्वेदी शामिल हैं। वर्ष 2017 के अंत में मप्र विधानसभा के आम चुनाव होंगे तथा इसमें भाजपा एवं कांग्रेस के पक्ष में आने वाली सीटें तय करेंगी कि इन पांच सदस्यों के निवृत्त होने पर कौन राज्यसभा में जायेंगे।


50 दंत चिकित्सकों की ज्वाईनिंग तिथि 31 दिसम्बर हुई
भोपाल।
राज्य सरकार ने लोक सेवा आयोग से चयनित 50 दंत चिकित्सकों की ज्वाईनिंग डेट एक माह से बढ़ाकर 31 दिसम्बर 2016 कर दी है। इस संबंध में जारी आदेश में कहा गया है कि 11 दंत चिकित्सकों द्वारा पीजी पाठ्यक्रम पूर्ण करने के लिये अतिरिक्त समय की मांग की है तथा पांच दंत चिकित्सकों ने न्यायालय में याचिका भी लगाई है। इसलिये ज्वाईनिंग डेट बढ़ाई गई है।
डॉ नवीन जोशी

वीडियो

More News