कैमरे में कैद : बेंगलुरु में 22 साल की लड़की को उठा ले गया बदमाश, कोई नहीं आया मदद को, एक हिरासत में

PUBLISHED : May 03 , 8:04 AMBookmark and Share




बेंगलुरु: बेंगलुरु में 22 साल की एक लड़की को सरेआम उसके घर से जबरन उठा लिया गया। महिला कथित तौर पर चिल्लाती रही, लेकिन कोई भी उसकी मदद करने के लिए आगे नहीं आया। यह घटना कैमरे में कैद हो गई है। पुलिस ने महिला को शिकायत दर्ज कराने को कहा है, लेकिन अभी तक उसने ऐसा नहीं किया है।

घर के बाहर फोन पर बात करने के दौरान हुई वारदात
यह घटना 23 अप्रैल की रात करीब 10 बजे की है। माना जा रहा है कि लड़की मणिपुर की रहने वाली है। सीसीटीवी में कैद तस्वीरों में दिखता है कि लड़की अपने पेइंग गेस्ट आवास के बाहर सड़क पर फोन पर बात कर रही होती है। तभी अचानक से एक आदमी वहां पहुंचता है और उसे जबरन उठाकर अपने साथ लेकर चला जाता है।

अपहरणकर्ता ने अपना चेहरा ढका हुआ था और उसने टोपी भी पहन रखी थी। सीसीटीवी फुटेज में देखा जा सकता है कि उसने महिला को पीछे से पकड़ा और उठाकर ले गया।

इस बीच एक पैदल महिला और स्कूटर पर सवार दो आदमी उधर से गुजरे, उन्हें सीसीटीवी फुटेज में साफ देखा जा सकता है, लेकिन उन्होंने इस घटना की तरफ ध्यान भी नहीं दिया।

रेप की कोशिश में नाकाम रहा बदमाश
लड़की ने एक टीवी चैनल को बताया है कि उस शख्स ने एक निर्माण स्थल पर उसके साथ रेप करने की कोशिश की, लेकिन उसके चिल्लाने की आवाज कुछ लोगों तक पहुंच गई, जिसके बाद घबराकर वह बदमाश वहां से भाग गया। लड़की ने इस घटना के बारे में पुलिस को जानकारी नहीं दी, बल्कि उसने एक टीवी चैनल को ये सारी बात बताई।

महिला ने बताया, 'मैं चिल्लाने लगी तो उसने मेरा मुंह बंद करने की कोशिश, खुद को बचाने के लिए मैंने उसे काटा भी। उसने मुझे मारा और फिर मैं बेहोश हो गई।' जब वह होश में आई तो अपहरणकर्ता वहां नहीं था। महिला ने बताया कि उसका बैग व फोन वहीं पर है।

पुलिस का कहना है कि हालांकि लड़की ने कोई शिकायत नहीं दर्ज कराई है, लेकिन जो सीसीटीवी फुटेज हैं, पुलिस खुद उसके आधार पर कार्रवाई कर रही है।

कर्नाटक महिला आयोग की अध्यक्ष मंजुला मनासा का कहना है कि सीनियर पुलिस अधिकारियों को इस मामले में एक्शन लेना चाहिए और वे लेंगे भी। पुलिस ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज कार्रवाई के लिए पर्याप्त सबूत है। इस मामले में एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है।

वीडियो

More News