इंदौर में तीन-दिवसीय एशियाई खो-खो प्रतियोगिता की शुरूआत

PUBLISHED : Apr 09 , 3:21 PMBookmark and Share


 
खेलों के विकास के लिये राज्य और केन्द्र सरकार कृत-संकल्प - श्रीमती सुमित्रा महाजन
खेलों से होता है शारीरिक और मानसिक विकास - मुख्यमंत्री श्री चौहान
 
लोकसभा अध्यक्ष श्रीमती सुमित्रा महाजन ने कहा है कि राज्य और केन्द्र सरकार खेल के विकास के लिये कृत-संकल्प है। श्रीमती महाजन ने कहा कि खेलकूद से धैर्य और अनुशासन की सीख मिलती है, जो जीवनभर काम आती है। हमारा लक्ष्य है कि प्रतियोगी इस प्रतियोगिता में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करें। श्रीमती महाजन आज इंदौर में तीन-दिवसीय एशियाई खो-खो प्रतियोगिता का शुभारंभ कर रही थीं। प्रतियोगिता में पहली बार महिला खो-खो टीमें भाग ले रही हैं। इसके पूर्व 1996 और सन् 2000 में एशियाई खो-खो प्रतियोगिता हुई है।
 
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने खिलाड़ियों और खेल प्रेमियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि खेलकूद का हमारे जीवन में बहुत महत्व है। खेल से मनुष्य न केवल स्वस्थ रहता है बल्कि जीवन का असली आनंद भी उठा पाता है। राज्य सरकार ने खेलों के विकास के लिये बजट में कई गुना वृद्धि की है। पिछले 13 वर्ष में मध्यप्रदेश ने खेलकूद के क्षेत्र में कई उल्लेखनीय उपलब्धि हासिल की है।
 
केन्द्रीय पर्यटन, संस्कृति और उड्डयन राज्य मंत्री डॉ. महेश शर्मा ने कहा कि सिंहस्थ देश का सबसे बड़ा पौराणिक आयोजन है, जिसे हम सब मिलकर सफल बनायेंगे। जीवन में खेलकूद का बड़ा महत्व है। खेलकूद से मनुष्य का शारीरिक और मानसिक विकास होता है।
 
एशियाई खो-खो फेडरेशन, भारतीय खो-खो महासंघ और मध्य भारत खो-खो एसोसियेशन के तत्वावधान में महर्षि प्रभाकर दादा कुलकर्णी इन्डोर स्टेडियम में एशियाई खो-खो प्रतियोगिता में एशिया के 6 देश- भारत, पाकिस्तान, कोरिया, श्रीलंका, नेपाल और बंगलादेश की 12 टीम के 180 खिलाड़ी भाग ले रहे हैं।
 
इस अवसर पर भारतीय खो-खो फेडरेशन के अध्यक्ष श्री राजीव मेहता, विधायक सर्वश्री महेन्द्र हार्डिया, सुदर्शन गुप्ता, रमेश मैंदोला, सुश्री उषा ठाकुर आदि मौजूद थे।

वीडियो

More News