मोदी कैबिनेट फेरबदल: डेढ़ दर्जन नए चेहरे होंगे शामिल, JDU कोटे 2 से होंगे मंत्री

PUBLISHED : Sep 02 , 12:49 PMBookmark and Share




केंद्रीय मंत्रिमंडल में रविवार को बड़ा विस्तार होने जा रहा है। डेढ़ दर्जन नए मंत्री बनाए जा सकते हैं, जबकि सात से आठ मंत्रियों को हटाया जा सकता है। नए मंत्रियों के लिए सत्यपाल सिंह, आरके सिंह, सुरेश अगाड़ी, ओमप्रकाश माथुर, प्रहलाद जोशी, भूपेंद्र यादव, प्रहलाद पटेल, विनय सहस्त्रबुद्धे व महेश गिरी के नामों की चर्चा हैं। सहयोगी दल जदयू का मंत्रिमंडल में शामिल होना तय है, जबकि अन्नाद्रमुक पर फैसला होना बाकी है। शिवसेना व तेलुगुदेशम को विस्तार में लाभ हो सकता है।

संभावित विस्तार व फेरबदल में जिन राज्यों में चुनाव होने हैं उनको वरीयता दी जा सकती है। इसके चलते कर्नाटक, मध्य प्रदेश व राजस्थान का प्रतिनिधित्व बढ़ सकता है। फेरबदल में हरियाणा, उत्तर प्रदेश, बिहार के मंत्रियों में बड़े बदलाव की उम्मीद है। नए मंत्रियों के लिए जिन नामों की चर्चा है, उनमें भाजपा संगठन से राष्ट्रीय महासचिव भूपेंद्र यादव और उपाध्यक्ष ओम प्रकाश माथुर, विनय सहस्त्रबुद्धे को सरकार में जगह मिल सकती है। उत्तर प्रदेश से बागपत के सांसद सत्यपाल सिंह व बिहार से सांसद आरके सिंह भी अपने प्रशासनिक अनुभव के चलते सरकार में शामिल किए जा सकते हैं। कर्नाटक में अगले साल चुनाव हैं, ऐसे में वहां से प्रहलाद जोशी व सुरेश अगाड़ी के नामों की चर्चा है। मध्य प्रदेश में अगले साल चुनाव हैं और वहां से प्रहलाद पटेल का नाम चर्चा में है। पटेल मणिपुर के प्रभारी है, जहां हाल में भाजपा ने सरकार बनाई है।

ये मंत्री सरकार से बाहर होंगे
विस्तार के पहले चार केंद्रीय मंत्रियों राजीव प्रताप रूड़ी, संजीव बालियान, फग्गन सिंह कुलस्ते व महेंद्रनाथ पांडे ने गुरुवार रात ही अपने इस्तीफे प्रधानमंत्री को भेज दिए थे, जबकि उमा भारती व कलराज मिश्रा अपने इस्तीफों की पेशकश कर चुके हैं। शुक्रवार को श्रम मंत्री बंडारू दत्तात्रेय ने भी इस्तीफा भेज दिया। रेल मंत्री सुरेश प्रभु पहले ही अपने इस्तीफे की पेशकश कर चुके हैं। सूत्रों के अनुसार, उमा भारती इस बदलाव से खुश नहीं हैं और इस बारे में उन्होंने संघ के वरिष्ठ नेताओं से चर्चा की है। चर्चा है कि विस्तार के पहले कुछ और मंत्रियों से भी इस्तीफे लिए जा सकते हैं।

वीडियो

More News