दुनिया के 50 टॉप बैंकों में शामिल हुआ 'स्टेट बैंक ऑफ इंडिया'

PUBLISHED : Apr 02 , 11:00 AMBookmark and Share




   

देश के सबसे बड़े वाणिज्यिक बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) में शनिवार को पांच सहायक बैंकों और भारतीय महिला बैंक का विलय हो गया। इसके साथ ही संपदा के मामले में एसबीआई दुनिया के 50 शीर्ष बैंकों में भी शामिल हो गया है। एसबीआई ने अब नया प्रतीक चिह्न भी अपनाया है। एसबीआई में एक अप्रैल को स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर, स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद, स्टेट बैंक ऑफ मैसूर, स्टेट बैंक ऑफ पटियाला, स्टेट बैंक ऑफ त्रवणकोर के साथ ही भारतीय महिला बैंक का विलय हुआ है।

इससे बैंक का कुल ग्राहक आधार 37 करोड़ के स्तर पर पहुंच गया। साथ ही इसका 24000 शाखाओं का नेटवर्क हो गया है। पूरे देश में इसके 59000 एटीएम हो गए हैं। विलय के बाद स्टेट बैंक का कुल जमा आधार 26 लाख करोड़ रुपए से अधिक और ऋण स्तर 18.6क् लाख करोड़ रुपये हो गया है। सभी ग्राहक भारतीय स्टेट बैंक के डिजिटल उत्पाद एवं सेवाओं का पूर्ण लाभ उठा सकेंगे।

बैंक शाखा नेटवर्क का होगा पुनर्गठन

एसबीआई की अध्यक्ष अरुंधति भट्टाचार्य ने कहा, सहायक बैंकों और भारतीय महिला बैंक के सभी ग्राहकों, कर्मचारियों और अन्य भागीदारों का एसबीआई समूह में स्वागत है।

बैंक एक तिमाही में लेनदेन की प्रक्रिया को पूरा कर लेगा। यह संयुक्त इकाई उत्पादकता को बढ़ाने के साथ ही भौगोलिक जोखिम को कम करेगी, परिचालन दक्षता में सुधार लाएगी एवं ग्राहकों को बेहतर सेवाएं देगी। उन्होंने कहा बैंक अपने शाखा नेटवर्क का पुनर्गठन करेगा तथा कुछ शाखाओं को स्थानांतरित करेगा।

ग्राहकों को देगी बेहतर सुविधाएं

एसबीआई की अध्यक्ष अरुंधति भट्टाचार्य ने कहा, सहायक बैंकों और भारतीय महिला बैंक के सभी ग्राहकों, कर्मचारियों और अन्य भागीदारों का एसबीआई समूह में स्वागत है।

बैंक एक तिमाही में लेनदेन की प्रक्रिया को पूरा कर लेगा। यह संयुक्त इकाई उत्पादकता को बढ़ाने के साथ ही भौगोलिक जोखिम को कम करेगी, परिचालन दक्षता में सुधार लाएगी एवं ग्राहकों को बेहतर सेवाएं देगी। उन्होंने कहा बैंक अपने शाखा नेटवर्क का पुनर्गठन करेगा तथा कुछ शाखाओं को स्थानांतरित करेगा।

वीडियो

More News