घाटकोपर हादसे में मृतकों की संख्या बढ़कर 17 हुई, शिवसेना नेता पर केस दर्ज

PUBLISHED : Jul 26 , 7:15 AMBookmark and Share




मुंबई के घाटकोपर उपनगरीय इलाके में मंगलवार की सुबह एक जर्जर चार मंजिला आवासीय इमारत के ढहने से कम से कम 17 लोगों की मौत हो गई। मृतकों में पांच महिलाएं और तीन महीने की एक बच्ची भी शामिल है। दामोदार पार्क में ध्वस्त हुए साईं दर्शन इमारत के मलबे से 19 लोगों को जिंदा निकाला गया। राहत और बचाव कार्य जारी है क्योंकि मलबे में अभी भी कुछ लोगों के दबे होने की आशंका है। इस मामले में स्थानीय शिवसेना नेता पर केस दर्ज हुआ है।

माना जा रहा है कि इमारत में लगभग 12 परिवार रह रहे थे, जिसके निचले तल पर एक निजी नर्सिंग होम का भी संचालन हो रहा था। चश्मदीदों के मुताबिक, सुबह 10.43 बजे के आस-पास इमारत अचानक ढह गई और धूल के गुबार के बीच उन्होंने कराहने व मदद के लिए चिल्लाने की आवाजें सुनीं। मुंबई अग्निशमन विभाग, बीएमसी बचाव दल, राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) और राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल (एसडीआरएफ) 14 दमकलों, बचाव वाहनों, एंबुलेंस, जेसीबी तथा मेटल कटर के साथ घटनास्थल पर पहुंचे।

यह इमारत बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) के खतरनाक इमारकों की सूची में शामिल थी और छह महीने पहले ही उसे खाली करने का नोटिस जारी किया गया था। बीएमसी आपदा नियंत्रण के मुताबिक, बचाए गए लोगों में से 11 को इलाज के लिए विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। घायलों में दो दमकलकर्मी हैं। बाकी को अस्पताल से छुट्टी मिल गई है।

दिल्ली में मौजूद प्रदेश के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने मामले की जांच का आदेश दिया है और निगम आयुक्त अजय मेहता से 15 दिनों के अंदर रिपोर्ट सौंपने को कहा है। राहत व बचाव कार्यों की निगरानी के लिए राज्य आवास मंत्री प्रकाश मेहता, निगम आयुक्त अजय मेहता, महापौर विश्वनाथ महादेश्वर, वरिष्ठ कांग्रेस नेता तथा पूर्व मंत्री एम. नसीम खान, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के शहर के अध्यक्ष सचिन अहिर, स्थानीय विधायक तथा निगम पार्षद व अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे।

इस सवाल के जवाब में कि नर्सिंग होम शिवसेना के एक स्थानीय नेता द्वारा चलाया जा रहा था और अवैध मरम्मत कार्य किया जा रहा था, मेहता ने आश्वस्त किया कि घटना के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। मृतकों की पहचान तीन माह की बच्ची रेणुका ललित ठाक, उसकी मां अमृता ठाक, सुलक्षणा खानचंदानी (80) तथा उनके रिश्तेदार किशोर खानचंदानी (50), मिकुल खानचंदानी (30), रंजना शाह (62), दिव्या पी.अजमेरा (48), पंधारीनाथ डोंगरे (75) तथा उनकी रिश्तेदार मनोरमा डोंगरे (70), कृष्णा डोंगरे (13) और 85 वषीर्य मनसुख गज्जर के रूप में हुई है।

वीडियो

More News