नहीं ले पाएंगे छात्रों से अधिक फीस: स्मृति ईरानी

PUBLISHED : Mar 15 , 8:18 AMBookmark and Share





 सरकार ने सोमवार को बताया कि शैक्षणिक संस्थाओं में छात्रों से अत्यधिक फीस वसूलने और इससे जुड़े मुद्दों से निपटने के तंत्र को व्यवस्थित किया गया है। साथ ही समाज के वंचित वर्ग के बच्चों को सस्ती शिक्षा मुहैया कराने के मकसद से वृहद मुक्त ऑनलाइन कोर्स आधारित प्लेटफॉर्म के जरिए ‘स्वयं’ पहल पेश की जाएगी।
 लोकसभा में बूरा नरसैया गौड़ के पूरक प्रश्नों के उत्तर में मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि स्ववित्तपोषण शिक्षण संस्थानों द्वारा मनमाना शुल्क वसूल किए जाने के मुद्दे पर एआईसीटीई विचार करती है। इस वर्ग के इंजीनियरिंग कॉलेजों में काफी सीटें खाली रह जाने का एक बड़ा कारण यह भी है कि इनके पाठ्यक्रम उद्योगों की जरूरतों के अनुरूप नहीं हैं।
 उन्होंने कहा कि सरकार अगले सत्र से एक नया वृहद मुक्त ऑनलाइन कोर्स आधारित पोर्टल ‘स्वयं’ शुरू कर रही है। यह कार्यक्रम मोबाइल फोन आधारित होगा जिसके तहत 500 पाठ्यक्रम मुहैया कराए जाएंगे तथा इस कार्यक्रम के तहत दिए जाने वाले प्रमाणपत्रों और डिप्लोमा को संबंधित शिक्षण संस्थानों द्वारा मान्यता दी जाएगी।
 मंत्री ने कहा कि 'स्वयं' शुरू करने के पीछे मुख्य मकसद यह है कि देश के सभी बच्चों को शिक्षा से जोड़ा जा सके। स्मृति ने कहा कि शैक्षणिक संस्थाओं में छात्रों से अत्यधिक फीस वसूलने और इससे जुड़े मुद्दों से निपटने के लिए पहले से मौजूद तंत्र को और व्यवस्थित किया गया है।

वीडियो

More News