ओला प्रभावित एक-एक खेत का सर्वेक्षण होगा

PUBLISHED : Mar 17 , 8:29 AMBookmark and Share


 




मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि ओला एवं पानी से प्रभावित एक-एक खेत का सर्वेक्षण होगा। उन्होंने कहा कि सर्वेक्षण कृषि, राजस्व एवं पंचायत विभाग के संयुक्त दल द्वारा किया जायेगा। दल के साथ ग्राम के पंच/सरपंच भी शामिल रहेंगे। सर्वेक्षण कार्य में पूरी पारदर्शिता रहेगी। आपने कहा कि सर्वेक्षण के पश्चात आम नागरिकों के अवलोकन के लिये सूची ग्राम पंचायत में चस्पा की जायेगी। उन्होंने कहा कि यदि इसमें किसी को आपत्ति होगी तो पुनः सर्वेक्षण करवाया जायेगा। श्री चौहान आज टीकमगढ़ जिले की जतारा तहसील के ग्राम हरपुरा में किसानों को संबोधित कर रहे थे। विगत 13 मार्च को जिले में ओला वृष्टि एवं बेमौसम बारिश से काफी फसल प्रभावित हुई है।

पचास प्रतिशत से अधिक नुकसान होने पर कर्ज की वसूली स्थगित रहेगी

श्री चौहान ने कहा कि पचास प्रतिशत से अधिक नुकसान वाले किसानों के कर्ज की वसूली स्थगित की जायेगी तथा उनके कर्ज को मध्यावधि कर्ज में परिवर्तित कर दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही प्रभावित किसानों की अगली फसल के लिये शून्य प्रतिशत ब्याज पर खाद-बीज उपलब्ध करवाया जायेगा। श्री चौहान ने कहा कि जिन किसानों की पूरी फसल नष्ट हो गई है, उन्हें अगली फसल आने तक एक रूपये प्रति किलोग्राम की दर से गेहूँ, चावल एवं नमक उपलब्ध करवाया जायेगा। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही जिनके घरों के खपरे आदि नष्ट हो गये हैं या मवेशियों की हानि हुई है उन्हें भी नियमानुसर राहत राशि का वितरण किया जायेगा।

सबको पेयजल उपलब्ध करवाने की व्यवस्था की जायेगी

श्री चौहान ने कहा कि इस वर्ष बुन्देलखण्ड क्षेत्र में बहुत कम बारिश होने से क्षेत्र में दोहरा संकट है। उन्होंने कहा कि सभी को पीने का पानी उपलब्ध करवाने की हर हाल में व्यवस्था की जायेगी। ग्राम पंचायत में जो पानी का अच्छा स्त्रोत होगा वहाँ से पानी लिफ्ट कराकर ग्रामीणों को उपलब्ध करवाया जायेगा। उन्होंने कहा कि यदि ग्राम में पानी उपलब्ध नहीं होगा तो पानी का परिवहन कर पेयजल उपलब्ध करवाया जायेगा।

मैं आपके साथ हूँ, हिम्मत मत हारना

श्री चौहान ने किसानों से कहा कि संकट की इस घड़ी में मैं आपके साथ हूँ, आप हिम्मत मत हारना। उन्होंने कहा कि धैर्य रखना सब मिलकर इस मुसीबत से पार पा लेंगे। उन्होंने कहा कि सूखा राहत की दूसरी किस्त शीघ्र ही किसानों को वितरित की जायेगी। उन्होंने कहा कि एक भी प्रभावित किसान राहत पाने से वंचित नहीं रहेगा। श्री चौहान ने इसके पहले खेतों में प्रभावित फसल को देखा तथा किसानों से चर्चा की।

इस अवसर पर बुंदेलखंड विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री रामकृष्ण कुसमरिया, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री पर्वतलाल अहिरवार, पूर्व राज्य मंत्री श्री हरिशंकर खटीक, विधायक श्री दिनेश अहिरवार, श्री अनिल जैन, श्री अभय प्रताप सिंह, सचिव श्री सुरेन्द्र प्रताप सिंह, जिला पंचायत सदस्य श्री छत्रपाल सिंह एवं अन्य जन-प्रतिनिधि उपस्थित थे।

वीडियो

More News