केंद्र की सात योजनाओं में मप्र सिर्फ दस प्रतिशत का अंशदान देगा

PUBLISHED : Jun 22 , 6:47 PMBookmark and Share



केंद्र की अन्य सत्रह योजनाओं में 40 प्रतिशत अंशदान देना होगा
डॉ नवीन जोशी
भोपाल।
केंद्र प्रवर्तित सात महात्वाकांक्षी योजनाओं में मप्र का अंशदान पूर्ववत दस प्रतिशत ही रहेगा जबकि सत्रह अन्य योजनाओं में अब प्रदेश को 40 प्रतिशत अंशदान देना होगा। इस संबंध में राज्य के वित्त विभाग ने सभी विभागों, संभागीय आयुक्तों तथा जिला कलेक्टरों को परिपत्र जारी कर दिया है।
परिपत्र में वित्त विभाग ने कहा है कि केंद्र के नीति आयोग द्वारा केंद्र प्रवर्तित योजनाओं की पुनर्संरचना के लिये, मुख्यमंत्रियों की गठित उप समूह की अनुशंसा पर भारत सरकार ने केन्द्रांश एवं राज्यांश के अनुपात के संबंध में निर्णय लिया गया है। अब इस अंशदान हेतु राज्य सरकार सक्षम वित्तीय समिति से पुन: अनुमोदन की आवश्यक्ता नहीं होगी।
इन सात योजनाओं में रहेगा 90:10 का अंशदान :
महात्मा गांधी नेशनल रुरल एम्प्लायमेंट गारंटी स्कीम, नेशनल सोशल असिस्टेंस प्रोग्राम, अम्ब्रेला प्रोग्राम फार डेवलपमेंट आफ शेड्यूल कास्ट, अम्ब्रेला प्रोग्राम फार डेवलपमेंट आफ शेड्यूल ट्राईब्स, अम्ब्रेला प्रोग्राम फार डेवलपमेंट आफ डिफ्रेन्टली एबल्ड पर्सन्स, अम्ब्रेला प्रोग्राम फार डेवलपमेंट आफ माईनारिटीज जिसमें मल्टी सेक्टोरल डवलपमेंट प्रोग्राम फार माईनारिटीज तथा एजुकेशन स्कीम फार मदरसा/माईनारिटीज शामिल हैं तथा अम्ब्रेला प्रोग्राम फार डेवलपमेंट आफ बेकवर्ड क्लासेस एण्ड अदर वनरेबल ग्रुप्स।
इन सत्रह योजनाओं में रहेगा 60:40 अंशदान :
कृषि उन्नति योजना, राष्ट्रीय कृषि विकास योजना, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना, राष्ट्रीय पशुधन विकास योजना, स्वच्छ भारत अभियान, नेशनल ड्रिकिंग वाटर प्रोग्राम, नेशनल हेल्थ मिशन, नेशनल एजुकेशन मिशन, इन्टीग्रटेड चाईल्ड डेवलपमेंट सर्विस, इन्टीग्रटेड चाईल्ड प्रोटेक्शन स्कीम, मिड डे मील प्रोग्राम, हाऊसिंग फार ऑल, नेशनल लाईवलीहुड मिशन, फारेस्ट्री एण्ड वाईल्उ लाईफ, अर्बन रिजुवनेशन एण्ड स्मार्ट सिटी, माडर्नाईजेशन आफ पुलिस फोर्सेस तथा इन्फ्रास्ट्रक्चर फसिलिटीज फार ज्युडिशियरी।

राष्ट्रपति के प्रवास की तैयारियां
भोपाल।
भारत के राष्ट्रपति श्री प्रणव मुकर्जी के मप्र प्रवास की तैयारियां चल रही हैं। राष्ट्रपति आगामी अक्टूबर माह में ग्वालियर स्थित सिंधिया घराने के गल्र्स स्कूल के समारोह में शामिल होंगे। राज्य मंत्रालय में उनके प्रवास की तैयारियों को अंजाम दिया जा रहा है।

डॉ नवीन जोशी

वीडियो

More News