इस्तांबुल हवाईअड्डे पर आत्मघाती हमले में 36 लोगों की मौत, IS पर शक

PUBLISHED : Jun 29 , 7:43 AMBookmark and Share




तुर्की में इस्तांबुल के मुख्य अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे के प्रवेश द्वार तीन आत्मघाती हमलावरों ने खुद को उड़ाने से पहले गोलीबारी शुरू कर दी, जिसमें 36 लोग मारे गए और लगभग 140 लोग घायल हो गए। इस हमले के पीछे आतंकी संगठन आईएसआईएस का हाथ होने की आशंका जताई जा रही है।

स्थानीय टेलीविजन चैनल ने देश के कानून मंत्री बेकिर बोजडाग के हवाले से हताहतों की संख्या बताते हुए कहा कि इस हमले में हमलावरों ने कलाशिनकोव रायफल का इस्तेमाल किया है।
इससे पहले इस्तांबुल के गवर्नर वासिप साहिन ने कहा कि अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार, तीन आत्मघाती हमलावरों ने इस हमले को अंजाम दिया है।

तुर्की के एक अधिकारी ने कहा कि पुलिस अतातुर्क हवाईअड्डे पर आगमन हॉल की सुरक्षा चौकी के पास दो हमलावरों को रोकने के लिये गोलियां चलाईं लेकिन दोनों ने खुद को उड़ा लिया।
तुर्की के राष्ट्रपति तईप एरडोगन ने कहा कि इस्तांबुल के मुख्य अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर आत्मघाती हमले में निर्दोष लोगों की हत्या करके तुर्की की ताकत को कम कर के आंकने की कोशिश है।

उन्होंने कहा, ' यह स्पष्ट है कि यह हमला किसी परिणाम को प्राप्त करने के उद्देश्य से नहीं किया गया है, बल्कि निर्दोष लोगों की हत्या कर देश के खिलाफ प्रचार करने की कोशिश है।'

एरडोगन ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि हमले के मद्देनजर आतंकवादी समूहों के खिलाफ दुनिया एक 'निर्णायक रुख' अख्तियार करेगी।

प्रधानमंत्री बिनाली यिल्दिरिम ने कहा है कि इस्तांबुल के मुख्य अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर आत्मघाती हमले के पीछे आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट के हाथ होने की आशंका है। इस हमले में मृतकों की संख्या 36 तक पहुंच गयी है जबकि बड़ी संख्या में लोग घायल हुए है। कुछ घायलों को गंभीर चोटें आयी है। उन्होंने कहा कि मृतको में विदेशी नागरिकों के शामिल होने की भी आशंका है।
हमले के वक्त आगमन हॉल में अपने एक मेहमान के आने का इंतजार कर रहे अली तीकिन ने कहा, 'यह बहुत बड़ा विस्फोट था, इतना तेज की छत का हिस्सा नीचे गिर गया है। हवाईअड्डे के अंदर का नजारा इतन भयानक है कि आप उसे पहचान नहीं सकते, यह बहुत बड़ी क्षति है।'

अभी तक इस हमले की जिम्मेदारी किसी भी गुट ने नहीं ली है। डोगन संवाद समिति ने पुलिस सुत्रों के हवाले से कहा है कि इस हमले के पीछे आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट का हाथ हो सकता है।
पिछले मार्च में ब्रुसेल्स एयरपोर्ट पर हुए आत्मघाती हमलों और इस घटना में काफी समानताएं देखी जा रही हैं। उल्लेखनीय है कि ब्रुसेल्स एयरपोर्ट पर इस्लामिक स्टेट के आत्मघाती हमलावरों के हमले में 16 लोग मारे गए थे। उसके कुछ पलों के अंतर पर बुसेल्स में ही मेट्रो ट्रेन में ऐसे हमले में भी 16 जानें गई थीं।

हमले के बाद विमानों की आवाजाही रोक दी गई है और लोगों से कहा गया है कि वह अतातुर्क हवाईअड्डे से दूर रहें। सरकारी एजेंसियों ने लोगों से अपील की है कि वे सोशल मीडिया के जरिए एयरपोर्ट पर मौजूद अपने परिवार के लोगों से संपर्क करें।

हमले के बाद सोशल मीडिया पर पोस्ट की गयी तस्वीरों में हवाईअड्डे के इमारतों के अंदर और बाहर कई घायलों को जमीन पर लेटे हुए देखा गया है।

पिछले साल सरकार और कुर्द चरमपंथियों के बीच संघर्ष विराम खत्म होने के बाद तुर्की में हाल के महीनों में कई हमले हुए हैं।

वीडियो

More News